मधुमेह पीड़ित छात्र ले जा सकेंगे दवाई और खान-पान का सामान, बोर्ड ने जारी किये दिशा-निर्देश

in #wortheumnews19 days ago

Screenshot_20240212-085830.png
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं व 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के लिए अब कुछ ही दिन शेष हैं। ऐसे में बोर्ड ने परीक्षाओं के लिए विशेष इंतजाम किए हैं। बोर्ड ने टाइप-एक मधुमेह वाले छात्रों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। ये छात्र अपने साथ दवाई व खान-पान का सामान ले जा सकते हैं। इस संबंध में सीबीएसई ने अपनी अधिकारिक वेबसाइट पर भी निर्देश जारी किए हैं।

इसमें बताया है कि बोर्ड परीक्षा में बैठने वाले मधुमेह टाइप-एक से पीड़ित छात्रों को परीक्षा के दौरान चिकित्सीय दृष्टि से खान-पान का सामान ले जा सकते हैं। यह छात्र अपने साथ शुगर की टेबलेट, चॉकलेट, कैंडी, केला, सेब, संतरा जैसे फल, सैंडविच जैसे स्नैक उत्पाद व आधे लीटर की पानी की बोतल पारदर्शी पाउच या बॉक्स में ले जा सकते हैं।

सीबीएसई ने मधुमेह टाइप-1 से पीड़ित समस्याओं पर विचार करने के बाद परीक्षा में चिकित्सा संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए इन छात्रों को कई सुविधाएं दी हैं। साथ ही, उच्च प्रोटीन आहार, चिकित्सकों की परामर्श पर्ची के अनुसार दवा, ग्लूकोमीटर, ग्लूकोज टेस्टिंग स्ट्रिप व इंसुलिन पंप ले जाने की अनुमति दी है।

बोर्ड को देनी होगी जानकारी
बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि अगर किसी छात्र को यह सुविधा लेनी है तो उसे परीक्षा केंद्र को सूचित करना अनिवार्य है। वहीं, इन सुविधाओं का लाभ उठाने से पहले संबंधित छात्रों को दस्तावेजों के साथ संबंधित सीबीएसई के क्षेत्रीय कार्यालय में आवेदन जमा करना होगा। बता दें 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा 15 फरवरी से दो अप्रैल तक आयोजित की जाएंगी।

सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह केवल उन्हीं छात्रों के लिए जो इस बीमारी से पीड़ित हैं। हर परीक्षार्थी की सुविधा को देखते हुए यह फैसला लिया है। किसी भी छात्र को परेशानी न हो इसको लेकर पूरा ध्यान रखा गया है।