झांसी में आज दोपहर छाई बदरी, दो हफ्ते के बाद पारा 43 डिग्री के नीचे

in #weather11 days ago

Screenshot_20240606_005024_Amar Ujala.jpg

झांसी। मध्यप्रदेश में चक्रवाती परिसंचरण बनने से रविवार देर रात चली धूल भरी आंधी और हल्की बारिश का असर सोमवार के मौसम पर भी देखने को मिला। दोपहर में बदरी छाई रहने से अधिकतम तापमान लुढ़ककर 42.9 डिग्री सेल्सियस तक आ गया। हालांकि, मौसम विभाग ने अब तापमान में बढ़ोतरी का पूर्वानुमान जताया है। आपको बता दें कि झांसी में मध्य मई से भीषण गर्मी पड़नी शुरू हो गई थी। 17 मई से लू चलनी शुरू हो गई, जो कि 22 मई तक जारी रही। फिर 23 से 25 मई तक उष्ण लहर नहीं चली। इसके बाद 26 मई से पांच जून तक फिर गंभीर लू चली। छह को लू थमी रही और फिर सात जून को उष्ण लहर चलने से अधिकतम पारा 45.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। ऐसे में झांसी प्रदेश का सबसे जिला रहा। वहीं, रविवार रात गर्म को अचानक से मौसम में बदलाव हुआ। धूल भरी आंधी और हल्की बारिश ने वातावरण की गर्माहट कम कर दी। मौसम केंद्र लखनऊ के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक डॉ अतुल कुमार सिंह ने बताया कि मध्यप्रदेश में चक्रवाती परिसंचरण बनने से 50 से 60 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से रवि8 को धूल भरी आंधी चली थी। चक्रवाती परिसंचरणा का असर सोमवार को भी देखने को मिला। (आसमान में बादल छाए रहे और अधिकतम तापमान लुढ़ककर 42.9 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। इससे पहले 24 मई को अधिकतम पारा 42 डिग्री सेल्सियस रहा था। ऐसे में दो सप्ताह बाद फिर अधिकतम पारा 43 डिग्री सेल्सियस के नीचे पहुंचा है।