सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर फूटा गुस्सा, लखनऊ तक हुई किरकिरी

in #sitapur2 months ago

1000090309.jpg

पल्हापुर सामूहिक हत्याकांड के बाद से लगातार सोशल मीडिया पर लोग तीखी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। हत्याकांड के महज चंद मिनटों बाद अनुराग को मानसिक विक्षिप्त बताने वाले अफसर यूजर्स के निशाने पर हैं।
कुछ लोग मुख्यमंत्री से इस हत्याकांड की जांच की मांग कर रहे हैं तो कुछ पुलिस की हड़बड़ी का उपहास उड़ा रहे हैं। सीतापुर से लेकर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी इसकी गूंज सुनाई पड़ रही है। लोगों के दिल में भरा गुस्सा और गुबार सोशल मीडिया पर बाहर निकलकर आ रहा है। एक्स यूजर शादाब सिद्दकी लिखते हैं...सीतापुर के पुलिस अधीक्षक हर घटना में इनकी एक अलग कहानी होती है।
रामपुर मथुरा क्षेत्र में हुए हत्याकांड को अलग एंगल दे रहे हैं। जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट कुछ और कहती है। यूपी में इनके जैसे पुलिस अधिकारी जब तक रहेंगे, तब तक न्याय कैसे होगा। समाजवादी पार्टी छात्रसभा के जिलाध्यक्ष शिवम सिंह ने फेसबुक पर लिखा कि रामपुर मथुरा के पल्हापुर में हत्याकांड की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। एक अन्य यूजर शिवम सक्सेना लिखते हैं कि इस हत्याकांड की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।
सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रियाओं का सिलसिला यहीं नहीं थमा...इसकी गूंज लखनऊ तक पहुंची। अनुराग ने पत्नी प्रियंका के नाम से लखनऊ में कुर्सी रोड स्थित सरगम अपार्टमेंट में फ्लैट लिया था। घटना के बाद लखनऊ जनकल्याण महासमिति उपाध्यक्ष विवेक शर्मा व अपार्टमेंट के अन्य लोगों ने मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि दी थी।
विवेक शर्मा एक्स पर लिखते हैं...जघन्यतम हत्याकांड और बेहद लचर सीतापुर पुलिस की विवेचना। महज आधे घंटे की विवेचना में मृतक को मानसिक विक्षिप्त बताने वाले अफसरों को प्रशिक्षण की नितांत आवश्यकता है...। एक अन्य यूजर सुशील दुबे ने लिखा निशब्द...पुलिस के लिए एक मिनट का मौन। वहीं, कई यूजर हत्यारों को फांसी और उम्रकैद की मांग भी कर रहे हैं।