शहरी इलाके में राजेश की पकड़ रही ढीली, छाया गठबंधन

in #sitapurlast month

सीतापुर। सीतापुर संसदीय क्षेत्र में आने वाली सदर विधानसभा सीट के मतदाताओं ने गठबंधन प्रत्याशी पर खूब प्यार लुटाया। गठबंधन से लोकसभा का चुनाव लड़े प्रत्याशी राकेश राठौर ने 2017 के विधानसभा चुनावों में सदर सीट को भाजपा की झोली में डालकर 20 वर्षाें बाद कमल खिलाया था। लोकसभा चुनाव में बदले सियासी समीकरणों के कारण वह कांग्रेस की नैया पर सवार होकर चुनावी समर में उतरे। गठबंधन प्रत्याशी राकेश राठौर के आगे भाजपा प्रत्याशी राजेश वर्मा की पकड़ ढीली नजर आई।
पहले राउंड की मतगणना में गठबंधन प्रत्याशी राकेश राठौर को 19,262 मत हासिल हुए। वहीं, राजेश वर्मा को 14,929 मत ही मिल सके। पहले राउंड में ही गठबंधन को मिली बढ़त देखकर गठबंधन प्रत्याशी के समर्थकों के चेहरे खिल गए।
इसी तरह दूसरे राउंड की गणना पूरी होने तक राकेश राठौर को 38,925 मत और राजेश वर्मा को 27,841 मत प्राप्त हुए। यह बढ़त लगातार बनी रही। आठवें राउंड की गणना पूरी होते होते राकेश राठौर ने इस विधानसभा क्षेत्र में अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी राजेश वर्मा पर 52,623 मतों की बढ़त बना ली।
यह सिलसिला अंंत तक जारी रहा। अपने पुराने विधायक को सांसद के रूप में देखने के लिए शहरी मतदाताओं ने जमकर प्यार लुटाया। गठबंधन प्रत्याशी राकेश राठौर की जीत में इस विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं की अहम भूमिका रही।