प्रेमी युगल की शादी में बने फर्जी पिता और भाई , एमपी पुलिस ने दबोचा

in #ghiror20 days ago

घिरोर,
ग्वालियर में नौकरी कर रहे युवक ने युवती को लाकर शादी कर ली। जिसमे युवक के साथ पहुंचे गांव के युवकों को गवाह के साथ युवती का पिता और भाई बनाकर शादी कर ली गई।

और खर्च के लिए युवती के खाते से धनराशि भी निकाल ली गई। युवती के पिता ने खाता बंद करवा कर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई उसके वाद ग्वालियर पुलिस उनकी तलाश में युवक के गांव पहुंची और लडकी के पिता बने उसके भाई को गिरप्तार कर पूछताछ की तो उसने ग्राम प्रधान को जानकारी होने की वात संज्ञान में आई तो उसके पश्चात पुलिस ने ग्राम प्रधान को सख्ती से पूछताछ की तो नौक झोंक भी हुई और अपने साथ ले गई। पुछताछ के बाद रिहा कर दिया।

 घिरोर क्षेत्र के गांव ढ़करई निवासी सचिन कुमार पुत्र फौरन सिंह ग्वालियर रहकर गोलगप्पे या प्राइवेट नौकरी कर रहा है। वही की निवास करने वाली किसी बड़े बिजनेस मैन की पुत्री को प्रेम जाल में फंसाकर उसके साथ आर्य समाज मंदिर में हिंदू रीति रिवाज के साथ शादी की । चर्चा है कि जिसमे युवक के गांव ढकरई निवासी महेश चन्द्र युवती का पिता बना तो सुनील कुमार लड़की का भाई जिसमे गवाह बने ग्राम प्रधान बताएं जा रहे है।शादी होने के पश्चात युवती को ले आए। सूत्रों के हवाले से खबर है कि युवती के खाते में मोटी धन राशि थी। जिसमें कुछ निकासी हुई तो युवती के पिता के पास मैसेज पहुंचा तो खाता में रोक लगाई।  इसके बाद युवती की तलाश करते हुए एमपी पुलिस ने थाना घिरोर में आकर कोसमा चौकी पहुंचकर तलास की लेकिन तब तक युवक और युवती फरार हो चुके थे। लेकिन लड़की का जो पिता बने महेश यादव के भाई अरविन्द उर्फ अतई को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसमें ग्राम प्रधान को मामले की जानकारी संज्ञान में आई । जिसके बाद पुलिस ने ग्राम प्रधान अखिलेश यादव  पूछताछ की तो नौक - झोंक भी हुई । चर्चा है कि प्रधान के द्वारा सहयोग ना करने पर एमपी पुलिस और प्रधान में अभद्रता का व्यवहार भी हुआ है । सूत्रों की माने तो प्रधान को पुलिस में हिरासत लेने  के उपरांत काफी नेताओं की सिफारिस हुई लेकिन पुलिस ने नही मानी और पकड़े गए लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर ले गई । लेकिन उसी दिन रिहा भी कर दिया।