सचिवालय के समीक्षा अधिकारी से डॉक्टर प्रमोद गुप्ता ने की अभद्रता, स्टाफ़ ने मारा जूता

in #doctor2 months ago

1000126479.jpg

झांसी। झांसी के वात्सल्य हॉस्पिटल में यूपी सचिवालय के समीक्षा अधिकारी और कर्मचारियों के बीच झगड़ा हो गया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि उनमें मारपीट हो गई। यह घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इसके बाद जहां एक ओर समीक्षा अधिकारी ने हॉस्पिटल के मालिक डॉ प्रमोद गुप्ता के खिलाफ मामला दर्ज कराया है तो वहीं दूसरी ओर प्रमोद गुप्ता ने समीक्षा अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। हुआ यूंकि जनपद झांसी के नवाबाद थानान्तर्गत शिवाजी नगर में रहने वाले जितेन्द्र कुमार पुत्र सीताराम यूपी सचिवालय में समीक्षा अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने शिकायत करते हुए बताया कि 20 फरवरी को उनके बेटे का जन्म अस्पताल में हुआ था। जांच के दौरान उनके बेटे को लगभग 15 यूनिट पीलिया डायग्नोसिस हुआ था। जिस कारण उन्होंने अपने बेटे को 26 फरवरी की दोपहर में झांसी में चर्चित डॉक्टर प्रमोद गुप्ता के वात्सल्य हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। जहां उसके बेटे के इलाज में लापरवाही की जा रही थी। जब उन्होंने इसकी शिकायत अस्पताल के स्टॉफ़ से की तो उन्होंने जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए उन्हें अपमानित किया। इसका विरोध किया तो राजकुमार कुशवाहा नाम के कर्मचारी ने उसे जूता मार दिया। साथ ही अन्य स्टॉफ़ ने उनके साथ अभद्रता की। वह इसकी शिकायत लेकर थाने पहुंचे जहां हॉस्पिटल के मालिक डॉक्टर प्रमोद गुप्ता भी पहुंच गए। जब उन्हें पूरी घटना के बारे में अवगत कराया तो उन्होंने भी गालियां देते हुए उन्हें अपमानित करते हुए भगा दिया। पुलिस ने शिकायत के आधार सम्बधित धाराओं के तहत डॉ प्रमोद गुप्ता, राजकुमार कुशवाहा, आधा दर्जन अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, जब वात्सल्य हॉस्पिटल के डॉक्टर प्रमोद गुप्ता से इस मामले को लेकर बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि यह बात सच है कि अस्पताल में झगड़ा हुआ था, लेकिन इस झगड़े की शुरुआत समीक्षा अधिकारी ने की थी। जिसमें बचाव करते हुए उनके अस्पताल के कर्मचारियों ने उन्हें पीटा। मारपीट की यह घटना यहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है। जिसमें स्पष्ट रुप से देखा जा सकता है।