सुल्तानपुर जेल में आजीवन कारावास के अमेठी निवासी कैदी की मौत

in #crime19 days ago (edited)

d199ba88-8cdd-48ad-b811-cbb7409d38d2_1654169059561 (2).jpg
सुल्तानपुर। जिला कारागार की एक बैरक में हत्या के मामले में निरुद्ध सजायाफ्ता बुजुर्ग कैदी की रविवार सुबह अचानक तबीयत खराब हो गई। जेल प्रशासन बीमार कैदी को लेकर मेडिकल कॉलेज पहुंचा। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिला अस्पताल से कोतवाली नगर पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया जा रहा है कि मृतक श्वांस रोग से पीड़ित था।अमेठी जिले के बाजार शुकुल थाना क्षेत्र के मरदानपुर गांव निवासी तौफीक (77) सन् 1984 में हुई एक हत्या के मामले में जिला कारागार में निरुद्ध था। जेल प्रशासन के मुताबिक उसे आजीवन कारावास की सजा न्यायालय की ओर से दी गई थी। जुलाई 2022 में जिला कारागार में निरुद्ध हुआ था। जेल प्रशासन ने उसकी मौजूदा आयु व दशा को देखते हुए उसे अधिक आयु के लोगों के लिए बनाई गई अलग बैरक में रखा गया था। इस बैरक में तौफीक के साथ आठ अन्य कैदी की रहने की व्यवस्था की गई थी।

रविवार की सुबह उस बैरक के अन्य कैदियों ने बंदी रक्षकों को तौफीक की सांस फूलने की जानकारी दी। हालत गंभीर होने पर जेल प्रशासन उसे लेकर मेडिकल कॉलेज पहुंचा। जहां चिकित्सकाें ने उसे मृत घोषित कर दिया। जेल प्रशासन ने मृतक के परिजनों को यह जानकारी दी।
कोतवाली नगर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। जेल अधीक्षक अनिल गौतम ने बताया कि तौफीक सजायाफ्ता मुलजिम था। वह लंबे समय से सांस की बीमारी से परेशान था। रविवार को उसकी तबीयत अधिक खराब हो गई थी।