दर्दनाक हादसा:यमुना नदी में नहाने गए पांच दोस्त,दो डूबे,एक बच्चें को बचाया,दूसरे की तलाश जारी

in #accident23 days ago

20240402_122147.jpg
उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के टप्पल क्षेत्र के गांव लालपुर में एक दर्दनाक हादसा उस वक्त सामने आया है। जब सोमवार को 5 मासूम दोस्त यमुना नदी में नहाने के लिए गए थे। यमुना नदी में कूदते ही दो बच्चे यमुना नदी में तेज बहाव के चलते पानी मे डूब गए।तो वहीं तीन बच्चों ने जैसे तैसे कर यमुना नदी के तेज बहाव के बीच पानी से निकलकर अपनी जान बचाई। यमुना नदी से जान बचाकर बाहर निकले बच्चों के द्वारा उनके साथ में यमुना नदी में नहाने गए दो बच्चों के नदी में डूबने की सूचना उनके परिजनों को दी। यमुना नदी में बच्चों के डूबने की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया।जिसके बाद पीड़ित परिजन ग्रामीणों के साथ दौड़कर मौके पर पहुंचे और बच्चों के यमुना नदी में डूबने की सूचना इलाका पुलिस सहित प्रशासन को दी।बच्चों के यमुना में डूबने की खबर पर पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंच गया। मौके पर पहुंचे प्रशासन द्वारा यमुना नदी में डूबे बच्चों को बचाने के लिए आगरा से पीएसी की रेस्क्यू टीम मौके पर बुलाई ।जहां रेस्क्यू टीम द्वारा एक बच्चे को तलाश कर उसको सकुशल नदी से बाहर निकाल लिया।वहीं यमुना नदी में डूबे दूसरे बच्चे की डेडबॉडी की तलाश के लिए लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

जानकारी के अनुसार थाना टप्पल क्षेत्र के लालपुर गांव निवासी जाकिर ने यमुना नदी डूबे बच्चों को लेकर बताया कि गांव के 5 बच्चे यमुना नदी के किनारे खेलने के लिए गए थे। तभी यमुना किनारे खेल रहे पांच बच्चे अचानक यमुना नदी में नहाने के लिए कूद गए। जिम दो बच्चे गंगा नदी में डूब गए और तीन बच्चों ने गंगा नदी से निकाल कर अपनी जान बचाते हुए सूचना परिजनों को दी। बच्चों के गंगा नदी में डूबने की खबर जंगल में लगी आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गई और परिजन सहित ग्रामीण दौड़कर मौके पर पहुंच गए। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों के द्वारा यमुना नदी में दुबे दो बच्चों में एक 12 वर्षीय बच्चे हातिम पुत्र वजीर को सकुशल जिंदा यमुना नदी से बाहर निकालते हुए उपचार के लिए अस्पताल रवाना किया गया।तो वहीं परिजनों के द्वारा यमुना नदी में बच्चों के डूबने की सूचना करीब 12:00 बजे पुलिस और प्रशासन को दी। सूचना के करीब 1 घंटे बाद पुलिस और प्रशासन मौके पर पहुंच गया। परिजनों का आरोप है कि मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन के द्वारा यमुना नदी में डूबे बच्चे को बाहर निकलने के बदले परिजनों का झूठा आश्वासन देते हुए कहा कि आगरा से रेस्क्यू टीम आ रही है, बावजूद इसके रेस्क्यू टीम दर्दनाक घटना के कई घंटे के बाद रात के करीब 8:00 बजे मौके पर पहुंची और यमुना नदी में डूबे बच्चे को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया। लेकिन यमुना नदी में डूबे दूसरे बच्चे का कई घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं लगा। यही वजह है कि दूसरे बच्चे को तलाशने के लिए रात भर रेस्क्यू टीम के द्वारा यमुना नदी में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहा। जहां नदी में डूबे दूसरे बच्चे का अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है। 11 वर्षीय मासूम बच्चे दिलशाद के यमुना नदी में डूबने के चलते परिवार के लोगों का दर्दनाक हादसे के बाद से ही रो रो कर बुरा हाल है।तो ग्रामीणों की भीड़ लगातार यमुना नदी पर डटी हुई है।

बाइट- जाकिर यमुना नदी में डूबे बच्चों का चाचा

दर्दनाक हादसे के दौरान मौके पर मौजूद चश्मदीद बच्चें आदिल ने अपनी आंखों के सामने हुए खौफनाक मंजर को लेकर बताया कि इकबाल,दिलशाद,भोलू अयान ओर हातिम के साथ वह गांव के ही एक व्यक्ति के घर से रस्सी लेकर यमुना नदी में नहाने के लिए गए थे।तभी यमुना नदी के किनारे चलते-चलते अचानक सभी बच्चों का पैर रेत से फिसल गया और पांचो बच्चे रेत के ढाए से पैर फिसलने के चलते यमुना नदी के 35 फुट पानी के अंदर गिर गए। जिसमें तीन बच्चों ने यमुना नदी से निकाल कर अपनी जान बचाई तो वही दो बच्चे दिलशाद और हातिम यमुना नदी में डूब गए। साथी बच्चों के यमुना नदी में डूबने के उन्होंने बच्चों को बचाने के लिए शोर मचा दिया।

खैर एसडीएम दिग्विजय सिंह का कहना है कि टप्पल ब्लॉक के लालपुर गांव के बच्चे नहाने के लिए यमुना नदी में कूद गए थे। एक बच्चे को ग्रामीणों द्वारा जिंदा बाहर निकाल लिया। तो वही दूसरे बच्चे को तलाशने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। बच्चे को बचाने के लिए आगरा से पीएसी की फ्लेट कंपनी मौके पर बुलाई गई है। 6 लोगों की टीम के द्वारा बच्चे की डेड बॉडी तलाशने के लिए लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन किया जा रहा है।