अपने यहां बरसे वोट, 62.22 फीसदी मतदान

in #sitapur2 months ago

सीतापुर। मौसम के बदले मिजाज के बीच जिले में वोटर मेहरबान दिखे। जिले में 62.22 फीसदी मतदान हुआ। चौथे चरण के लिए सोमवार को हुए मतदान में वोटरों में सुबह से ही उत्साह दिखाई दिया। हालांकि कुछ देर के लिए आंधी-पानी के कारण लोगों को परेशानी हुई लेकिन उत्साह डिगा नहीं।दोपहर में धूप खिलने के बाद भी लोग मतदान केंद्राें पर कतार में लगे दिखे। 2019 के लोकसभा चुनाव में 63.8 फीसदी मतदान हुआ था। इस लिहाज से पिछली बार के लोकसभा चुनाव की तुलना में 1.58 फीसदी मतदान कम रहा। इसी के साथ जिले में आठ उम्मीदवारों का भाग्य ईवीएम में कैद हो गया। अब चार जून को मतगणना होगी।
लोकतंत्र के इस पर्व में हर किसी में उमंग का उल्लास दिखा। सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हुआ और पोलिंग बूथों में उत्साह नजर आने लगा। जिले के 2119 मतदान केंद्रों के 3240 मतदेय स्थलों पर वोटिंग शुरू हो गईहालांकि कुछ देर बार तेज आंधी के साथ बारिश हुई। कुछ इलाकों में ओलावृष्टि भी हुई। इस दौरान कुछ मतदान केंद्रों पर लगे टेंट उखड़ गए। इससे मतदान भी प्रभावित हुआ लेकिन लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। पोलिंग बूथ पर बुजुर्गाों के साथ महिलाएं भी लाइन में लगी दिखीं। जहांगीराबाद के बूथ पर मुस्लिम महिलाएं वोट देने उमड़ीं। कुछ देर बाद तेज धूप निकल आई। उमस भरी गर्मी में 36 डिग्री तापमान के बीच भी मतदाताओं में लोकतंत्र के महापर्व में भागीदारी को लेकर उत्साह दिखा।
लोकसभा सीतापुर में 62.22 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। हालांकि, लोकतंत्र के महापर्व में वोट की आहुति डालने को मतदाताओं का उत्साह 2019 लोकसभा चुनाव के मुकाबले 1.58 फीसदी कम रह गया। धौरहरा लोकसभा क्षेत्र की हरगांव विधानसभा में 65.32 और महोली विधानसभा क्षेत्र में 61.42 फीसदी मतदान रिकॉर्ड किया गया। मिश्रिख लोकसभा क्षेत्र की मिश्रिख विधानसभा में 56.92 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। जिले का कुल मतदान 62.22 प्रतिशत रहा। डीएम व एसपी दल-बल सहित दिन भर पोलिंग बूथों का जायजा लेते रहे।
दिन चढ़ने के साथ बढ़ता गया मतदान प्रतिशत
दिन चढ़ने के मतदाताओं का घरों से निकलकर बूथों की ओर पहुंचने का सिलसिला तेज होता चला गया। हालांकि सुबह साढ़े आठ बजे लहरपुर व बिसवां इलाके में आंधी-पानी साथ ओले गिरने से मतदाता ठिठक गए। लेकिन कुछ देर बाद मौसम साफ होने पर फिर वोटिंग सामान्य हो गई। दोपहर में जरूर मतदान सुस्त हुआ, इससे अधिकतर बूथों पर सन्नाटा नजर आया। शाम चार बजे के बाद कई बूथों पर एक बार फिर रौनक दिखी।सेवता अव्वल, सीतापुर फिसड्डी
जिले की आठ विधानसभा सीटों की बात करें तो गांजर के मतदाता वोट डालने में सबसे आगे रहे। सेवता विधानसभा क्षेत्र में 66.95 फीसदी मतदान हुआ है। शहरी मतदाता फिसड्डी साबित हुए हैं। सीतापुर विधानसभा सीट पर 54.36 फीसदी मतदान हुआ।