बिपरजाॅय तूफान के बाद तीन बार बर्बाद हुआ किसान फलियों में मूंग का अंकुरित होने लगे

in #pali10 months ago

बिपरजाॅय तूफान के बाद तीन बार बर्बाद हुआ किसान फलियों में मूंग का अंकुरित होने लगे
3 महीना पूर्व चक्रवर्ती तूफान बिपरजाॅय के बाद पुरा सावन ओर आधा भादवा सुखा जाने के बाद आधा शुक्ल पक्ष भादवा में एक बार फिर विदाई के दौर में मानसून सक्रिय होकर पिछले चार दिनों से सुमेरपुर उपखंड एवं नगर पालिका उपतहसील कार्यालय क्षेत्र के आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में इंद्रदेव की मेहर हुई और सावन की झड़ी लगा रखी है। ज्ञात रहे की 18 जून- 10 जुलाई के चक्रवर्ती तूफान से लेकर अब तक 60 दिनों में- तीसरी बार किसान ने महंगे खाद बीज और खेत जुताई कर बोई गई फसलें, तूफान के बाद बारिश ना होने से फसलें हुई थी खराब, फसल पर चार दिनों से लगातार बारिश से बची-खुची फसलें भी हुई बर्बाद, आखिर धरतीपुत्र अपना दुःख जाहिर करें तो कहां करें और अभी भी बरसात जारी है। जिस से मूंग की खडी फसलें, जडें गीली होने के कारण आडी गिर सकती हैं। लेकिन फसलों में एक तरह का झुकाव आकर बारिश का यही हाल होने से फलियों में मूंग का अंकुरण भी निकलना शुरू हो गया हैं। जिससे प्रत्यक्ष रूप से वर्तमान की बारिश से किसानों को बहुत कुछ नुकसान की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। तखतगढ़ निवासी एवं उलारिया रोड के काश्तकार भगाराम कुमावत ने बताया कि 60 बीघा जमीन में मूंग की फसल बोई हुई थी जो पक चुकी थी। लेकिन 4 दिन से लगातार हो रही मूसलाधार बरसात से पानी भराव होने से सारी फसल आड़ी होकर नष्ट हो गई है। क्षेत्र के बाबा गांव निवासी चुन्नीलाल मेघवाल ने बताया कि दो खेतों में पकी हुई मूंग की फसल कटाई करते ही लगातार हो रही बरसात से खेत में पड़ी कटी हुई फसल पानी में भीग कर खराब हो चुकी है। सोमवार को खबर लिखे जाने तक रुक-रुक कर बरसात का दौर जारी है। जवाई बांध जलग्रहण क्षेत्र में अच्छी बारिश होने से जवाई बांध में आवक को देखते हुए जवाई बांध के गेट नंबर 2,3,4,8,9व 10 को सोमवार अलसुबह 6:30 बजे 0.50-0.50 फीट खोले गए बाद दोपहर में फिर पानी की तेज आवन से जवाई बांध के 6 गेट 0.60-0.60 फीट खोल कर पानी नदी में छोड़ा जा रहा है।
IMG-20230919-WA0011.jpg